Peanuts Health Benefits And Side Effects in Hindi सर्दियों की सौगात मूंगफली खाने के आश्चर्यजनक लाभ

Peanuts Health Benefits And Side Effects in Hindi सर्दियों की सौगात मूंगफली खाने के आश्चर्यजनक लाभ: सर्दियों का मौसम हो और मूंगफली की बात न हो ये तो नामुमकिन है।


सर्दी आते ही मूंगफली भी हर तरफ दिखाई देने लगती है और घरवालों के साथ बैठकर बातें करते-करते गरमा गरम मूंगफली खाने का अपना ही मजा है।


मूंगफली सर्दियों की स्पेशल खाध्य वस्तु है परंतु बहुत से लोग इसके लाभ से अनजान हैं। यही कारण है कि सर्दियों में मूंगफली खाने के बावजूद बहुत से लोग इसके पोषक तत्वों से भरपूर फ़ायदा नहीं उठा पाते।


सर्दियों की सौगात मूंगफली सिर्फ खाने में ही जायकेदार नहीं बल्कि यह पोस्ट पौष्टिक तत्वों से भरपूर व्यंजन भी है।

मूंगफली सिर्फ खाने में ही मजेदार नहीं बल्कि यह स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी है।


मूंगफली एक फलीदार भोज्य पदार्थ है,इस को फल कहा जाता है परंतु इस में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के कारण इसको ड्राई फ्रूट में गिना जाता है।


गरम-गरम मूंगफली सिर्फ खाने में ही नहीं प्रयोग की जाती अपितु इसका तेल भी बहुत से लाभ अपने अंदर समाय हुए है।

Peanuts Health Benefits


मूंगफली को खाने के साथ साथ इसको दूसरी डिशेज में शामिल करके उन्हें और भी ज्यादा जायकेदार बनाया जा सकता है।

जैसे कि बन, केक, चॉकलेट और सालन में इसको शामिल करके ज़ायका और स्वास्थ्य दोनों हासिल किए जा सकते हैं।
शोधकर्ताओं ने मूंगफली के बहुत से लाभ बताए हैं


आइये आज हम आपको मूंगफली के बारे में कुछ तथ्य और इसके लाभ बताते हैं।

मूंगफली क्या है What is Peanut?


मूंगफली जिसे सस्ते होने और आसानी से उपलब्ध होने के कारणक सस्ता काजू या गरीबों का बादाम भी कहा जाता है।

सबसे पहले मूंगफली पेरागोय की घाटियों में उगाई गई। यह सालाना खेती किया जाने वाला पौधा है।

Peanuts Health Benefits

इस पौधे की लंबाई 30 से 50 सेंटीमीटर होती है।

मूंगफली की पैदावार में चीन पहले नंबर पर है दुनिया की सारी पैदावार में से 42 प्रतिशत मूंगफली की खेती चीन में ही होती है।
भारत चीन की पैदावार में दूसरे नंबर पर और अमेरिका तीसरे नंबर पर है।

पोषक तत्वों के लिहाज़ से मूंगफली का महत्व

The Nutrition Value of Peanut in Hindi


और अगर बात मूंगफली के लाभ और उस में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की करें तो आपको जान कर शायद हैरानी होगी कि
मूंगफली में प्राकृतिक तौर पर ऐसे एंटीऑक्सीडेंटस मौजूद होते हैं,

जो पोषक तत्वों के लिहाज़ से सेब गाजर और चुकंदर से भी ज्यादा होते हैं।


मूंगफली मैं ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो कमजोर और दुबले-पतले लोगों से लेकर बॉडीबिल्डिंग करने वाले लोगों तक के लिए फायदेमंद है।


मूंगफली चिकनाई से भरपूर होती है इसीलिए इसका तेल भी निकाला जाता है।

इसमें विटामिन ए पाया जाता है जोकि कैंसर से लड़ने की क्षमता रखता है।

मूंगफली में विटामिन डी भरपूर मात्रा में विराजमान होता है विटामिन डी हड्डियों और दांतो को मजबूत बनाता है।

मूंगफली में पाया जाने वाला प्राकृतिक लोहा खून के संचार करने में मदद देता है।

यह पाचन तंत्र की क्रिया को बेहतर बनाता है।

आइये अब हम आपको विस्तार से इस के लाभ बताते हैं-

मूंगफली के सेवन से पाएँ सुवस्थ हिर्दय के साथ लम्बी आयु

Peanuts for Heart in Hindi | Peanuts Health Benefits


मूंगफली के लाभ के हवाले से पब्लिश होने वाली एक रिसर्च में मूंगफली को लंबी उम्र के साथ संबंधित किया गया है।


अमेरिका के माहिर डॉक्टर कहते हैं के मूंगफली में दूसरे ड्राई फ्रूट की तरह स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी और पौष्टिक तत्व छुपे हुए हैं।

Peanuts Health Benefits

साथ ही इसमें हाई क्वालिटी की प्रोटीन अधिक मात्रा में मौजूद होती है।


जबकि मूंगफली का फायदेमंद रोगन विटामिन इ साल्ट फाइबर दिल की बीमारियों के लिए लाभदायक बताये जाते हैं ।

तथा बीमारी से बचने की क्षमता में बढ़ोतरी करते हैं।


मूंगफली में पाए जाने वाले पोषक तत्व जैसे फोलिक एसिड तांबा फाइबर और दूसरे विटामिन इंसान के स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है।


यह पोषक तत्व दिल और धमनियों की रक्षा करते हैं ओ नुकसानदायक कोलेस्ट्रोल को कम करते हैं।

साथ ही बैक्टीरिया और जहरीले तत्वों से भी रक्षा करते हैं।

मोटापे और दिल की बीमारियों से बचाव

एक रिसर्च में वैज्ञानिकों ने 70 हजार से ज्यादा अमेरिकी और अफ्रीकी लोगों पर उनके भोजन संबंधी आंकड़े का खुलासा पेश किया है।


अमेरिकी रिसर्च के मुताबिक भी मूंगफली के हिर्दय संबंधी बहुत से लाभ सामने आए हैं।


अमेरिका की यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन से जुड़े हुए डॉ जाओ ओशो ने मूंगफली और मौत के खतरे के प्रतिशत के संबंध पर रिसर्च की जो ऑनलाइन पत्रिका जामा इंटरनेशनल मेडिसिन में पब्लिश हुई।


रिसर्च के मुताबिक मूंगफली खाने से हृदय के बहुत सारे लाभ पता चले।


रिसर्च के दोरान जिन लोगों ने ड्राई फ्रूट में मूंगफली का सेवन किया था उन में इस समय के दौरान मौत का खतरा ऐसे लोगों के मुकाबले कम था जिन्होंने इस ड्राई फ्रूट का सेवन कम किया था या बिल्कुल भी नहीं किया था।

रिसर्चर जाओ ओशो का कहना है कि मूंगफली अगरचे ड्राई फ्रूट नहीं है और इसको फली के कैटेगरी में रखा जाता है परंतु इसके पोषक तत्व ड्राई फ्रूट्स के पोषक तत्वों के जैसे ही हैं।

इसके अतिरिक्त एक दूसरी रिसर्च में चीन के कम आमदनी वाले 1 लाख 34000 पुरुषों और महिलाओं के खाने-पीने की आदतों के बारे में मालूमात का आंकड़ा भी पेश किया गया।

अमेरिका अफ्रिका और चीन के रिसर्च में शामिल ग्रुपों में महिलाओं ने सबसे ज्यादा मूंगफली खाई थी।


नतीजे से यह बात सामने आई कि ऐसे तीनों ग्रुप्स में जो मोटापे और दिल की बीमारियों से होने वाले मौत के खतरे के साथ जुड़े हुए थे मूंगफली खाने वालों में दिल की बीमारियों का खतरा कम था।


और यह पुरुष और महिलाओं दोनों में देखा गया जो कि ज्यादा मूंगफली का सेवन करते थे।

इस के अतिरिक्त इंटरनेशनल रिसर्च रिपोर्ट से पता चला है कि ज्यादा मूंगफली और गरी दार ड्राई फ्रूट खाने वाले लोगों में हृदय के थक्के और हिर्दय रोगों से होने वाली मौतों के खतरे कम थे।


साथ ही उन्होंने यह सलाह भी दी है कि जिन लोगों को मूंगफली से एलर्जी नहीं है उन्हें हृदय के स्वास्थ्य के लिए ज्यादा से ज्यादा मूंगफली खानी चाहिए।


जिन लोगों ने इस रिसर्च की 6 साल की मुद्दत में ज्यादा से ज्यादा मूंगफली खाई थी उन में बीमारी का खतरा उन लोगों के मुकाबले जिन्होंने मूंगफली कम खाई या बिल्कुल नहीं खाई 20% तक कम था।


परंतु रिसर्च में शामिल लोगों को दिन भर में 17 से 18 ग्राम मूंगफली खाना आवश्यक था।


मूंगफली कैंसर की रक्षक Peanuts anti cancer properties |Peanuts Health Benefits


ये कैंसर से रक्षा करने में बहुत मददगार है। ये कैंसर से महफूज रखने में हमारी मदद करती है।


मूंगफली में प्रोटीन के साथ साथ कैल्शियम और विटामिन ए भी पाया जाता है।


इसमें पाए जाने वाले अनसैचुरेटेड फैक्ट्स विटामिन खनिज और बायो एक्टिव तत्व कैंसर विरोधी प्रभाव दिखा सकते हैं।

मूंगफली में मौजूद फाइटोस्ट्रोल कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है।

साइंटिफिक रिसर्च से पता चलता है कि मूंगफली के माध्यम से फाइटोस्ट्रोल का सेवन प्रोस्टेट ट्यूमर के मामलों में 40% और शरीर के अन्य भागों में फैलने वाले कैंसर की घटनाओं में लगभग 50% कमी ला सकता है।


यह तो आपको पता ही होगा कि विटामिन ई कैंसर के मुकाबले में बहुत ताकतवर है और यह विटामिन मूंगफली में भी परचुर मात्रा में पाया जाता है।

मूंगफली में बहुत मात्रा में पॉली फेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट और कॉमेरिक् एसिड पाया जाता है। इस में पेट के कैंसर की संभावना को कम करने का गुण होता है।


इस प्रकार हम कह सकते हैं के मूंगफली और उससे बने हुए वस्तुएं प्रोस्टेट ओवैरी और स्तन कैंसर से की संभावना को कम करने में सहायक हो सकते हैं।

मिस्र की एजुकेशन सोसाइटी ऑफ एनर्जी एंड इम्यूनोलॉजी के मेंबर डॉक्टर मजदी बदरान की रिसर्च रिपोर्ट से यह बात साबित हुई है मूंगफली बहुत से पौष्टिक तत्वों से भरपूर होती है जो मनुष्य के बदन की इम्यूनिटी सिस्टम को बेहतर बनाते हैं।

मूंगफली का प्रयोग बिल्हौर खून की धमनियों के रुकावट हो और कैंसर से बचाने में मदद करते हैं। मौजूद मूंगफली में प्रोटीन कैल्शियम विटामिन ई विटामिन b फॉस्फोरस भी पाए हैं।


हड्डियों की मजबूती के लिए मूंगफली का सेवन
Peanuts for Bone Health | Peanuts Health Benefits


मूंगफली में विटामिन डी भरपूर मात्रा में विराजमान होता है विटामिन डी हड्डियों और दांतो को मजबूत बनाता है।


इसमें मौजूद विटामिन और प्रोटीन हड्डियों और दातों को मजबूत करते हैं।

मूंगफली में मौजूद प्रोटीन इंसानी शरीर में मौजूद घावों को भरने में मदद करता है।

इसके अतिरिक्त हड्डियों और उनसे जुड़े मांसपेशियों को स्वस्थ रखने में मैग्नीशियम की भी बड़ी भूमिका है।

और मूंगफली में मैग्नीशियम की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है इसलिए भी मूंगफली का सेवन हड्डियों की सेहत के लिए अच्छा माना जाता है।

एक चौथाई कप भुनी हुई मूंगफली में 63 मिलीग्राम मैग्नीशियम पाया जाता है जो दैनिक आवश्यकता का 15% है।

अन्य लाभ Other Peanuts Health Benefits

उपर्युक्त लाभ के अतिरिक्त मूंगफली के अन्य बहुत से लाभ भी हैं जो कि निम्नलिखित हैं-

  • मूंगफली शरीर को ताकत प्रदान करती है।
  • मूंगफली मेदे और फेफड़ों के लिए लाभदायक है और इन दोनों अंगों को मजबूती देती है।
  • दुबले पतले और कमजोर लोगों के लिए मूंगफली बहुत फायदेमंद है तथा ये शरीर को चुस्त,सुडोल और शक्तिशाली बनाती है।
  • शुगर टाइप टू में मूंगफली का सेवन रोगी को बहुत लाभ देता है।
  • मूंगफली के सेवन से इंसुलिन की सतह बराबर बनी रहती है।
  • ये बुढ़ापे के असर को कम करती है।
  • मूंगफली में फाइबर की भी काफी प्रचुर मात्रा पाई जाती है यह फाइबर्स वजन कम करने और दमे से रक्षा करने में मदद देता है।
  • कुदरत का यह अनमोल तोहफा अपने अंदर टेपफोन भी रखता है यह शरीर में सेरोटोनिन पैदा करता है
  • मूंगफली का छिलका एंटी ऑक्सीडेंट तत्व अपने अंदर समेटे होता है।
  • इसके रोगन में प्रोटीन एंटीऑक्सीडेंट्स और जिस्म के लिए ज़रूरी साल्ट होते हैं।
  • मूंगफली में होने वाले मैग्नीशियम से कैल्शियम फैक्ट्स और कार्बोहाइड्रेट्स शरीर में समा जाते हैं और रक्त में शुगर का स्तर कंट्रोल में रहता है।
  • मूंगफली के आश्चर्यजनक गुणों में त्वचा संबंधी बीमारियां जैसे एगज़ीमा और सोरायसिस का भी इलाज संभव है
  • इसमें पाए जाने वाले फैटी एसिड से सूजन और त्वचा में होने वाला लालपन भी खत्म हो जाता है।
  • मूंगफली में वजन को कम करने की क्षमता भी है ऐसी महिलाएं जो मूंगफली को 1 हफ्ते में कम से कम 2 बार खाती हैं उनके वजन बढ़ने की संभावना कम हो जाती है।
  • मूंगफली में बालों को घना, सुंदर, चमकीला बनाने की छमता भी है।

ये भी जाने: Dabur Shrigopal Tail ke fayde डाबर श्रीगोपाल तेल के फायदे और उपयोग

सावधानियां Caution – Peanuts Health Benefits


मूंगफली स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है और यह कम कीमत पर आसानी से प्राप्त भी हो जाती है तथा बदन पर पॉजिटिव असर छोड़ती है।

परंतु मूंगफली के फायदे के साथ साथ कुछ नुकसान भी हैं।


इसलिए इसका सेवन करते समय कुछ सावधानियां अवश्य रखनी चाहिए-

  • कच्ची मूंगफली के बजाय सदैव भुनी हुई मूंगफली का सेवन करें ताकि इस से भरपूर लाभ उठाया जा सके।
  • बदन में खुजली होने पर मूंगफली का सेवन ना किया जाए इस से खुजली बढ़ सकती है।
  • गर्भवती महिलाएं बिना डॉक्टर की सलाह के मूंगफली का सेवन ना करें क्योंकि इससे एलर्जी होने का खतरा होता है।
  • खांसी होने पर मूंगफली का सेवन बिल्कुल बंद कर दें क्योंकि यह तेल से भरपूर मेवा होता है जोके खांसी को बढ़ा देता है।
  • ड्राई फ्रूट्स गर्म तासीर लिए हुए होते हैं इसलिए तेज़ाबियत का कारण बनते हैं।
  • इसलिए तेज़ाबियत के रोगी मूंगफली का प्रयोग ना करें या इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

परंतु सुवस्थ व्यक्ति के लिए यह नुकसानदायक नहीं है और उनको इस के कारण तेज़ाबियत का खतरा भी नही है

  • सांस या दमे के रोगियों को भी मूंगफली का सेवन लाभ के बजाय नुकसान पहुंचा सकता है।
  • पीलिया और मैदे के रोगी भी मूंगफली के ज्यादा प्रयोग से दूर रहे परंतु कम खाने से इन्हें कोई खास नुकसान नहीं होगा।
  • ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में की जाने वाली एक रिसर्च से पता चलता है की कच्ची मूंगफली के मुकाबले तली हुई मूंगफली एलर्जी पैदा करती है।
  • वैज्ञानिकों का यह भी कहना है कि ज्यादा तापमान पर गर्म करने की वजह से मूंगफली में कई बदलाव पैदा हो जाते हैं जिससे इंसान का इम्यूनिटी सिस्टम ज्यादा कार्यशील हो जाता है और एलर्जी हो सकती है।



Leave a Reply