Nak Me Ghi Dalne Ke Fayde नाक में घी डालने के फायदे

Advertisement

Nak Me Ghi Dalne Ke Fayde ; गाय के घी का सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए कई प्रकार से लाभदायक होता है। लेकिन क्या आपको नाक में घी डालने के फायदे और नुकसान के बारे में पता है। आप नाक में गाय के शुद्ध घी को डालकर भी अनेक स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते है।

आयुर्वेद में गाय के शुद्ध घी को औषधि के रूप में जाना जाता है। रात को सोते समय नाक में देशी घी की सिर्फ 2 बूँदे डालने कई फायदे होते है, आज के इस पोस्ट में हम आपको इसके बारे में जानकारी देंगें। आइये इसे विस्तार से जानते है।

घी क्या होता है? What is Ghee in Hindi

घी को मक्‍खन से प्राप्‍त किया जाता है। घी प्राप्‍त करने के लिए मक्‍खन या बटर को गर्म किया जाता है जिससे हमें घी प्राप्‍त होता है। आयुर्वेदिक दवाओं में घी का प्रमुख स्‍थान है। घी भारतीय व्‍यंजनों का प्रमुख खाद्य पदार्थ है।

Nak Me Ghi Dalne Ke Fayde

यह कमरे के तापमान में ठोस अवस्‍था में रहता है और इसे हल्‍का गर्म करने पर तरल रूप में परिवर्तित किया जा सकता है।

घी का उपयोग बहुत सी जड़ी बूटीयों के साथ स्वास्थ्य लाभ प्राप्‍त करने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग खाना पकाने के लिए और भोजन के पोषक तत्‍वों को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

घी के पोषक तत्‍व – Nutrition facts of Ghee in Hindi

घी की एक चम्‍मच मात्रा में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व इस प्रकार हैं।

  • वसा 73 ग्रामसंतृप्‍त वसा
  • 926,मोनोअनसैचुरेटेड
  • 678पॉलअनसैचुरेटेड वसा
  • 473प्रोटीन
  • 04 ग्राम
  • 112 कैलोरी ऊर्जा
  • 694 मिलीग्राम ओमेगा-6 फैटी एसिड
  • 026 मिली ओमेगा-9 फैटी एसिड

गाय के घी में एंटीवायरल, एंटीऑक्‍सीडेंट, एंटी-फंगल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं। गाय के घी में कैलोरी अधिक मात्रा में होता है। घी में उपस्थित वसा शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।

नाक में घी डालने के फायदे – Nak Me Ghi Dalne Ke Fayde

रात में सोने से पहले नाक में घी डालना हमारे लिए किस प्रकार से लाभदायक होता है आइये इसे विस्तार से जानते है।

(1) त्रिदोष को दूर करने के लिए नाक में घी डाले

नाक में धी डालने से त्रिदोष जैसे वात, पित्त और कफ दोष को संतुलित किया जा सकता है। इसके लिए आप गाय के घी की दो बूंद दिन में तीन बार नाक में डालें।

(2) नाक में घी डालने के फायदे आँखों के लिए

जब आप नाक में गाय का घी डालते है तो इससे आँखों की ज्योति बढ़ती है। आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए आप रात में सोते समय नाक में दो बूंद घी डालें।

(3) बालों का झड़ना बंद करने के लिए नाक में घी डालें

घी में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है जो हमारे बालों के लिए फायदेमंद होते है। अपने बालों को झड़ने से रोकने के लिए आप रात में सोने से पहले नाक में दो बूंद गाय का घी डालें।

(4) नाक में घी डालने के फायदे याददाश्त बढ़ाने में

स्मरण शक्ति बढ़ाने और याददाश्त तेज करने के लिए नाक में घी डालना फायदेमंद होते है। अपनी नाक में दो बूंद घी डाले।

(5)नाक में घी डालने के फायदे सिर दर्द में

यदि आप सिर दर्द और माइग्रेन से परेशान है तो अपनी नाक में गाय का दो बूंद घी सुबह शाम को डालें, इससे आपको जल्दी आराम मिलेगा।

Nak Me Ghi Dalne Ke Fayde

नाक में घी डालने के अन्य फायदे – Nak Me Ghi Dalne Ke fayde

  • रात में सोने से पहले नाक में घी की दो बूंद डालने से अनिद्रा की समस्या दूर होती है।
  • घी डालने से नाक की खुश्की मिटती है।
  • नाक में धी डालने से यह व्यक्ति को कोमा से जगाने में मदद कर सकता है।
  • कफ जमने की समस्या दूर होती है।
  • नाक में घी डालना तनाव दूर करने में सहायक होता है।
  • यह कैंसर होने की संभावना को भी कम करता है

दूसरी बीमारियों में इसके फायदे जानिए – Nak Me Ghi Dalne Ke Fayde

  • 20-25 ग्राम गाय का घी व मिश्री खिलाने से शराब, भांग व गांजे का नशा कम हो जाता है।
  • गाय का घी नाक में डालने से कान का पर्दा बिना ओपरेशन के ही ठीक हो जाता है ।
  • नाक में घी डालने से नाक की खुश्की दूर होती है और दिमाग तरोताजा हो जाता है ।

  • गाय का घी नाक में डालने से कोमा से बाहर निकल कर चेतना वापस लौट आती है।
  • गाय का घी नाक में डालने से बाल झड़ना समाप्त होकर नए बाल भी आने लगते हैं।
  • गाय के घी को नाक में डालने से मानसिक शांति मिलती है, याददाश्त तेज होती है।

  • हाथ-पैर में जलन होने पर गाय के घी को तलवों में मालिश करें, जलन ठीक होता है।
  • हिचकी के न रुकने पर खाली पेट गाय का आधा चम्मच घी खाएं, हिचकी स्वयं रुक जाएगी।
  • गाय के घी का नियमित सेवन करने से एसिडिटी व कब्ज की शिकायत कम हो जाती है।

  • गाय के घी से बल और वीर्य बढ़ता है और शारीरिक व मानसिक ताकत में भी इजाफा होता है।
  • गाय के पुराने घी से बच्चों को छाती और पीठ पर मालिश करने से कफ की शिकायत दूर हो जाती है।
  • अगर अधिक कमजोरी लगे, तो एक गिलास दूध में एक चम्मच गाय का घी और मिश्री डालकर पी लें।

  • गाय का घी न सिर्फ कैंसर को पैदा होने से रोकता है, इस बीमारी के फैलने को भी आश्चर्यजनक ढंग से रोकता है।
  • जिस व्यक्ति को हार्ट अटैक की तकलीफ है और चिकनाई खाने की मनाही है तो गाय का घी खाएं, इससे ह्रदय मज़बूत होता है।
  • देसी गाय के घी में कैंसर से लड़ने की अचूक क्षमता होती है। इसके सेवन से स्तन तथा आंत के खतरनाक कैंसर से बचा जा सकता है।

  • गाय का घी, छिलका सहित पिसा हुआ काला चना और पिसी शक्कर या बूरा या देसी खाण्ड, तीनों को समान मात्रा में मिलाकर लड्डू बांध लें। प्रतिदिन प्रातः खाली पेट एक लड्डू खूब चबा-चबाकर खाते हुए एक गिलास मीठा गुनगुना दूध घूंट-घूंट करके पीने से स्त्रियों के प्रदर रोग में आराम होता है, पुरुषों का शरीर मोटा ताजा यानी सुडौल और बलवान बनता है।

  • फफोलों पर गाय का देसी घी लगाने से आराम मिलता है।
  • गाय के घी की छाती पर मालिश करने से बच्चो के बलगम को बहार निकालने मे सहायता मिलती है।
  • सांप काटने पर 100-150 ग्राम गाय का घी पिलाएं, ऊपर से जितना गुनगुना पानी पिला सकें, पिलायें। इससे उलटी और दस्त तो लगेगा, लेकिन सांप का विष भी कम हो जाएगा।

  • दो बूंद देसी गाय का घी नाक में सुबह शाम डालने से माइग्रेन दर्द ठीक होता है।
  • सिर दर्द होने पर शरीर में गर्मी लगती हो, तो गाय के घी की पैरों के तलवे पर मालिश करे, इससे सिरदर्द दर्द ठीक हो जाएगा।

  • यह स्मरण रहे कि गाय के घी के सेवन से कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है। वजन भी नहीं बढ़ता, बल्कि यह वजन को संतुलित करता है। यानी कमजोर व्यक्ति का वजन बढ़ता है तथा मोटे व्यक्ति का मोटापा (वजन) कम होता है।
  • एक चम्मच गाय के शुद्ध घी में एक चम्मच बूरा और 1/4 चम्मच पिसी काली मिर्च इन तीनों को मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोते समय चाट कर ऊपर से गर्म मीठा दूध पीने से आंखों की ज्योति बढ़ती है।

  • गाय के घी को ठंडे जल में फेंट लें और फिर घी को पानी से अलग कर लें। यह प्रक्रिया लगभग सौ बार करें और इसमें थोड़ा सा कपूर डालकर मिला दें। इस विधि द्वारा प्राप्त घी एक असर कारक औषधि में परिवर्तित हो जाता है, जिससे त्वचा संबंधी हर चर्म रोग में चमत्कारिक फायदा होता है।

  • गाय का घी एक अच्छा कोलेस्ट्रॉल है। उच्च कोलेस्ट्रॉल के रोगियों को गाय का घी ही खाना चाहिए। यह एक बहुत अच्छा टॉनिक भी है।
  • अगर आप गाय के घी की कुछ बूंदें दिन में तीन बार, नाक में प्रयोग करेंगे तो यह त्रिदोष (वात पित्त और कफ) को संतुलित करता है।

नाक में घी डालने के नुकसान Nak Me Ghi Dalne Ke Nuksan

गाय के घी की कुछ बूंदों को नाक में डालने से किसी भी प्रकार के गंभीर नुकसान नहीं होते है। इसके लिए आप केवल गाय के शुद्ध घी कई ही प्रयोग करें। यदि आपको घी की गंध से किसी भी प्रकार के एलर्जी होती है तो इसका प्रयोग न करें।

ये भी पढ़े::

Giloy ke fayde | Giloy Benefits in Hindi गिलोय के लाभ

जानिए तिल में छुपे जादुई राज़ Sesame Seeds Benefits in Hindi

Panderm Plus Cream Uses in Hindi – पेंडर्म प्लस क्रीम की जानकारी

Honey Benefits in Hindi – शहद के फायदे

Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: