Dabur dashmularist ke fayde डाबर दशमूलारिष्ट के फायदे

Advertisement

Dabur dashmularist ke fayde

यह एक आयुर्वेदिक औषधि है जो कि 10 शक्तिशाली औषधीय जड़ी बूटियों से निर्मित की जाती हैं। इसके नाम का अर्थ “दशा” मतलब दस और “मूल” मतलब “जड़ें।

यह औषधि एक स्वास्थ्य टॉनिक है जोकि पेन रिलीवर के रूप में अपना काम करता है।यह टॉनिक महिलाओं को डिलीवरी के बाद दिया जाता है। जिससे कि इसका सेवन करने से महिलाओं का स्वास्थ्य अच्छा हो सके।

डाबर दशमूलारिष्ट के फायदे dabur dashmularist ke fayde

1. भूख बढ़ाने में सहायक dabur dashmularist ke fayde

यह भूख बढ़ाने में सहायक है, जब महिला बच्चे को जन्म देती है उसके बाद महिलाओं को भूख और बदहजमी के नुकसान का अनुभव होता है।

Dabur dashmularist ke fayde

दशमूलारिष्ट पाचन बढ़ाने के गुणों से भरपूर है, जिसके कारण भूख बढ़ाने में सहायता मिलते हैं और यह बदहजमी को कम करता है।

2. प्रसव के बुखार पर नियंत्रण Dabur dashmularist ke fayde

जहां एक महिला ने बच्चा दिया है, और वह बुखार से पीड़ित है। इस तरह के मामलों में दशमूलारिष्ट सहायक होता है। प्रसव होने के उपाय उच्च और कई प्रकार का बुखार हो सकता है।

दशमूलारिष्ट मैं ऐसे गुण होते हैं जोकि हानिकारक बैक्टीरिया और रोगाणुओं से लड़ने में सहायक होते हैं।

3. पाचन रोगों की देखभाल dabur dashmularist ke fayde

बहुत सी महिलाएं डिलीवरी के बाद दस्त और आईपीएस जैसी पाचन समस्याओं का सामना करती हैं।

इसलिए दशमूलारिष्ट का सेवन करने से उन्हें इस तरह की समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा इसमें हल्की कसैली क्रिया होती है।

4. शारीरिक शक्ति में करता है सुधार Dabur dashmularist ke fayde

जड़ी बूटियों से भरपूर होने के कारण यह हमें जीवन शक्ति देते हैं। दशमूलारिष्ट महिलाओं को शारीरिक रूप से बाद में मजबूत बनाने में सहायक होता है।

यह दर्द में भी आराम देने में सहायक है और यह शारीरिक फिटनेस में सुधार कर बदलाव करता है।

5. इम्युनिटी में सुधार लाता है dabur dashmularist ke fayde

डाबर दशमूलारिष्ट में इम्युनोमोड्यूलेटर होता है जोकि महिलाओं को जन्म देने के बाद उनमें इम्यूनिटी में सुधार लाने में सहायक होता है।

6. पीठ दर्द में सहायक dabur dashmularist ke fayde

यह पीठ के दर्द को कम करता है, जब एक महिला बच्चे को जन्म देती है। तो उसकी पीठ में दर्द और पेट में अकड़न की परेशानी ज्यादा होती है।

दर्द निवारक गुणों के कारण दशमूलारिष्ट पेट में होने वाली समस्याएं को कम करो उन्हें राहत दिलाने में सहायक होता है।

डाबर दशमूलारिष्ट के उपयोग uses dabur dashmularist in hindi

1. डिलीवरी के बाद टॉनिक के रूप में थकान दूर करने में सहायक

डिलीवरी होने के बाद महिलाओं को मेटाबोलिज्म को बढ़ावा देने में दशमूलारिष्ट सहायक है। यह विटामिन और खनिज से भरपूर मात्र है और शरीर को पोषक तत्व में सुधार करने में सहायक है।

यह पाचन शक्ति को बहाने में भी अपना योगदान प्रदान करता है। इसके साथ ही महिलाओं में कमजोरी और थकान की समस्या को दूर करने में सहायक होता है।

2. मानसिक तनाव से मिलता है छुटकारा Dabur dashmularist ke fayde

डाबर दशमूलारिष्ट महिलाओं को मानसिक शक्ति देने में सहायक है, और उनके दिमाग व शरीर को मजबूत बनाने में मदद करता है।

यह महिलाओं के स्वास्थ्य को बिल्कुल स्वस्थ बनाने के लिए कायाकल्प का कार्य करने में सहायक होता है।

3. त्वचा में करता है सुधार Dabur dashmularist ke fayde

दशमूलारिष्ट त्वचा के रंग को निखारने में मदद करता है, और त्वचा को एक प्राकृतिक चमक प्रदान करता है।

इसका सेवन करने से त्वचा पर मौजूद काले धब्बे मुंहासे और काले घेरे को कम करने में व खत्म करने में हमारे सहायता करता है।

डाबर दशमूलारिष्ट की उपयोग विधि

  • इस जड़ी बूटी का अधिक प्रभाव देखने के लिए भोजन करने के तुरंत बाद दिन में दो बार दशमूलारिष्ट का सेवन करना चाहिए।
  • भोजन करने के तुरंत बाद दिन में दो बार दशमूलारिष्ट का सेवन उचित है इसे खाली पेट पर ना लें।
  • दशमूलारिष्ट को 15 से 20 मिली की मात्रा में पानी के साथ दिन में दो बार लेना चाहिए।
  • इसे दूध के साथ ले ले, क्योंकि दशमूलारिष्ट को केवल पानी के साथ ही सेवन करने की सलाह दी जाती है।
  • इसका सेवन पानी के साथ करना चाहिए, और इस दवा के नुकसान से बचने के लिए इस जड़ी बूटी को अधिक मात्रा में लेने से बचना चाहिए ‌।

डाबर दशमूलारिष्ट की खुराक dabur dashmularist dosage in hindi

  • डिलीवरी होने के बाद महिला 15 मिली दशमूलारिष्ट का सेवन दिन में दो बार कर सकती हैं।
  • अगर महिला किसी गंभीर कमजोरी से पीड़ित है तो खुराक को बढ़ाकर दिन में दो बार 30 मिली तक ले सकती है।
  • यदि किसी महिला को इसका स्वाद कड़वा लगता है तो वह इसको पानी के साथ मिला सकती हैं।
  • महिलाएं इसका सेवन 15 से 20 मिली या 4 चम्मच भोजन खाने के तुरंत बाद पानी की बराबर मात्रा में दिन में दो बार ले सकती हैं।

दशमूलारिष्ट के नुकसान dashmularist side effect in hindi

यह बताया जाता है कि दशमूलारिष्ट से कोई भी नुकसान नहीं है लेकिन इस दवा को अधिक मात्रा पर लेने से कुछ भी नुकसान हो सकता है जैसे-

  • सीने की जलन
  • मुंह में छाले का होना
  • अधिक प्यास लगना
  • जलन होने के साथ दस्त
  • पेट मे जलन

कुछ मामलों में देखने को मिलता है, कि पानी के बिना इस दवा की अधिक खुराक मसालों के कारण बवासीर या कवच होने का कारण बन सकती हैं।

इसे भी पढ़ें

जानिए तिल में छुपे जादुई राज़ Sesame Seeds Benefits in Hindi

Dabur Shrigopal Tail ke fayde डाबर श्रीगोपाल तेल के फायदे और उपयोग

Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: