ashwagandharishta in hindi

Ashwagandharishta benefits in hindi अश्वगंधारिष्ट की जानकारी

Ashwagandharishta शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की बीमारियों को दूर करने के लिए जानी-मानी आयुर्वेदिक दवा है।

अगर आप भी अश्वगंधारिष्ट के फायदे और इस्तेमाल के बारे में जानकारी जानना चाहते हैं? हम आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं Ashwagandharishta ke fayde और side effects के बारे में जानकारी।

साथ ही साथ जानेंगे कि इसको कैसे इस्तेमाल किया जाता है? क्या इसके साइड इफेक्ट हो सकते हैं? और इसकी कीमत और प्राइस के बारे में भी चर्चा करेंगे।

यह सभी जानकारी जाने से पहले यह जानना बहुत ही जरूरी है कि आखिर अश्वगंधा क्या होता है?

What is ashwagandha?

अश्वगंधा को भारतीय जिनसेंग के नाम से भी जाना जाता है। अश्वगंधा का अर्थ होता है घोड़े की गन्ध

आप जाना चाहोगे कि इसका यह नाम क्यों पड़ा वह इसलिए क्योंकि इसकी जड़ों में से घोड़े के पसीने की जैसी गन्ध आती है।

अश्वगंधा प्रकृति का दिया हुआ एक अनमोल उपहार है। जिसका उपयोग प्राचीन आयुर्वेद औषधि में बहुत ही महत्वपूर्ण रहा है।

कई सदियों से अब तक इसका उपयोग तरह-तरह की जड़ी बूटियों के रूप में किया जा रहा है।

संक्रमण को कई अलग-अलग तरीकों से दूर करने के लिए यह अमेरिका के मूल निवासियों और अफ्रीकी द्वारा भी उपयोग किया जा चुका है।

अश्वगंधा के पौधे और इसके औषधि गुणों का वर्णन पारंपरिक चीनी चिकित्सा और आयुर्वेद में व्यापक रूप से किया गया है।

ashwagandha in hindi

अश्वगंधा के पौधे की ज्यादातर पैदावार हमारे देश भारत में ही होती है। इसके पेड़ में पीले रंग के फूल होते हैं।

जिनके अंदर चने के बराबर मोटा एक फल होता है और इसकी पत्तियां हरे रंग की होती है।

Ashwagandharishta Review in Hindi

अश्वगंधारिष्ट एक बल्य और ताकतवर औषधि है जो मानसिक और शारीरिक सभी तरह के रोगों में उपयोगी है।

ashwagandharishta in hindi

आपको यह बात जानकर हैरानी होगी की अश्वगंधा का उपयोग शतावरी के रूप में भी किया जाता है जो सेहत के लिए फायदेमंद साबित होता है।

Ashwagandharishta Syrup Benefits in Hindi अश्वगंधारिष्ट के फायदे

सबसे पहले बात कर लेते हैं अश्वगंधारिष्ट के फायदों के बारे में

शारीरिक और मानसिक बीमारी में भी उपयोगी

अश्वगंधारिष्ट शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की बीमारियों को जड़ से उखाड़ फेंकने में सक्षम है।

यह मानसिक रोग तनाव, डिप्रेशन को दूर करने में भी पूर्ण रूप से सक्षम है।

ashwagandharishta

इसी तरह अश्वगंधारिष्ट दिमागी कमजोरी, विकृति, और थकावट को दूर करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

कैंसर जैसी घातक बीमारी को दूर भगाने में सक्षम

आपको शायद ना पता हो लेकिन अश्वगंधा का उपयोग कैंसर जैसी घातक बीमारी को दूर करने के लिए भी किया जाता है।

लंबाई बढ़ाने में सक्षम

आप की लंबाई कम है और आप अपने दोस्तों में और रिश्तेदारों में शर्म के मारे पानी-पानी हो जाते हैं।

तो अब आपको लंबाई की तरफ से परेशानी उठाने की जरूरत नहीं है क्योंकि अश्वगंधा जेसी औषधि हमारी लंबाई को भी बहुत ही तेजी से बढ़ाने में सक्षम है।

इन्हें भी जाने: Dabur Shrigopal Tail ke fayde डाबर श्रीगोपाल तेल के फायदे और उपयोग

भूख व वजन बढ़ाने में सहायक

अश्वगंधारिष्ट का उपयोग कांति, वजन, भूख, बल, वीर्य, और प्रतिरक्षा को बढ़ाने के लिए किया जाता है।

इसके अलावा अश्वगंधारिष्ट सप्त धातुओं को पोषित करता है।

ब्रेन टॉनिक के रूप में

अश्वगंधारिष्ट शरीर के हर हिस्से को हर अंग को ताकत देता है। अश्वगंधारिष्ट एक अच्छा और ताकतवर ब्रेन टॉनिक भी है।

अश्वगंधारिष्ट एक उत्तम रसायन है जो कि कामोद्दीपक और फर्टिलिटी को बढ़ाने में भी वरदान की तरह है।

स्त्रियों के रोगों में फायदेमंद

इसका उपयोग स्त्रियों में हिस्टीरिया रोग, सर दर्द, पाचन क्रिया का खराब होना, काम करने में मन ना लगना तरह-तरह के रोगों में भी किया जाता है।

अश्वगंधारिष्ट महिलाओं के प्रस्तुति के बाद की कमजोरी को दूर करने में भी कारगर साबित होता है।

ये दिल की धड़कन की अनियमित गति और बेचैनी को भी झट से दूर कर देता है।

इसके अलावा अश्वगंधारिष्ट का उपयोग

  • तंत्रिका की कमजोरी,
  • बेहोशी और चक्कर आना,
  • नींद की कमी

इसी तरह की रोगों में भी इस्तेमाल किया जाता है।

इन्हें भी जाने: Mansure Capsule Reviews in Hindi वीर्य में शुक्राणुओं की कमी को दूर करने के लिए

आइए अब आपको इसके पाई जाने वाली जड़ी बूटियों के बारे में विस्तार से समझाता हूं कि आखिर इसमें क्या क्या मिला है?

Ashwagandharishta Ingredients जड़ी बूटियां

चलिए जान लेते हैं इसमें मिलाए जाने वाली जड़ी बूटियों के बारे में।

अश्वगंधारिष्ट

और इसी तरह की बहुत सारी जड़ी बूटियों का इस्तेमाल करके यह अश्वगंधारिष्ट रामबाण नुस्खा तैयार किया जाता है।

Ashwagandharishta Dosage सही मात्रा में इस्तेमाल विधि

अगर आप इसे ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करते हैं तो इसके इस्तेमाल से नुकसान भी हो सकता है।

और सही तरीके से इस्तेमाल करने पर शीघ्र ही फायदा भी हो सकता है?

आइए जान लेते हैं कि इसकी सही मात्रा और इस्तेमाल करने का तरीका क्या है?

इसकी 12 से 24 ml मात्रा लेकर और इतने ही पानी में मिलाकर खाना खाने के आधे घंटे के बाद दिन में दो बार इस्तेमाल करके इसके फायदा उठा सकते हैं।

यह कहना गलत ना होगा की अश्वगंधारिष्ट पूर्ण रूप से सुरक्षित औषधि है। आप इसे 3 से 4 महीने तक इस्तेमाल कर सकते हैं।

Ashwagandharishta Syrup Price कीमत और कैसे खरीदें?

अश्वगंधारिष्ठा को कई जानी-मानी आयुर्वेदिक कंपनी द्वारा तैयार किया जाता है।

जिसमें डाबर और बैद्यनाथ काफी पॉपुलर हैं और यह आपको ऑनलाइन भी मिल जाते हैं।

अगर आप ऑनलाइन खरीदना चाहते हैं तो नीचे लिंक पर क्लिक करके इसको घर बैठे मंगा सकते हैं।

Baidyanath Ayurvedic Ashwagandharishta, 450ml

Ashwagandharishta side effects अश्वगंधारिष्ट के नुकसान

इसमें 5 से 10 प्रतिशत तक का सेल्फ जेनरेटेड अल्कोहल मिला होता है कभी भी आप इससे खाली पेट इस्तेमाल ना करें।

अश्वगंधारिष्ट के बारे में या कोई भी औषधि के बारे में जिसकी आप को अच्छी तरह से जानकारी नहीं है डॉक्टर से सलाह जरूर ले ले।

1 thought on “Ashwagandharishta benefits in hindi अश्वगंधारिष्ट की जानकारी”

Leave a Reply